राजस्थान में पुजारी को जिंदा जलाने का मामला आया सामने : गांव में प्रदर्शन शुरू

 
राजस्थान में पुजारी को जिंदा जलाने का मामला आया सामने : गांव में प्रदर्शन शुरू

राजस्थान में पुजारी को जिंदा जलाने का मामला आया सामने : गांव में प्रदर्शन शुरू

राजस्थान के करौली जिले के सपोटरा इलाके के बूकना गांव में दबंगों ने पुजारी बाबूलाल वैष्णव की जलाकर हत्या कर दी थी। शव देर रात जयपुर से उनके गांव पहुंचा। परिवार ने अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया है। परिवार ने 50 लाख रुपए का मुआवजा  और एक परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग रखी है।

परिवार की  माँग  है कि आरोपियों को फौरन गिरफ्तार किया जाए। उनकी मदद करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए। पीड़ित परिवार  का कहना है कि जब तक मांगें पूरी नहीं की जाती तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। वहीं, इस मामले को लेकर गांव में विरोध और प्रदर्शन भी शुरू हो गया है।बता दे की पीड़ित परिवार ने 50 लाख रूपये और  सरकारी नौकरी की मांग की है।    

 परिवार का आरोप गाँव के दबंगो ने की हत्या 

दरअसल, जमीन विवाद पर बाबूलाल को गांव के दबंगों ने बुधवार को पेट्रोल डालकर जला दिया था। जयपुर के SMSअस्पताल में इलाज के दौरान गुरुवार को उनकी मौत हो गई। पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है। करौली के बूकना गांव जयपुर से 175 किमी दूर है।

राज्यपाल  ने अशोक गहलोत से की बात

राज्यपाल कलराज मिश्र ने सुबह राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से राजस्थान में हो रहे अपराधों को लेकर पर फोन कर चर्चा की।बातचीत के दौरान राज्यपाल ने करौली में पुजारी को जिंदा जलाने, बाड़मेर में नाबालिग से बलात्कारइत्यादि सहित और इसी के साथ प्रदेश की कानून व्यवस्था के बारे में चिंता जताई।

क्या है हत्या का मामला 

आपको बता दे की पुजारी की हत्या 3 दिन पहले हुई ,जिसका मुख्य कारण है जमीन विवाद।  बाबूलाल को गांव के दबंगों ने जमीन विवाद के  मामले में बुधवार को पेट्रोल डालकर जला दिया था, मौका पर उन्हें जयपुर के SMS अस्पताल में भर्ती कराया गया जबकि इलाज के दौरान गुरुवार को उनकी मौत हो गई। पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है। 



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां